Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
Uncategorized

रमजान की रातों में इबादत से गुनाह होंगे माफ – कारी अनस



गोरखपुर, उत्तर प्रदेश।

मकतब इस्लामियात तुर्कमानपुर के शिक्षक कारी मो. अनस रज़वी ने बताया कि रोजा पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के ऐलाने नबुव्वत के पन्द्रहवें साल दस शव्वाल दो हिजरी में फर्ज हुआ। अल्लाह तआला ने कुरआन-ए-पाक में फरमाया “ऐ ईमान वालों तुम पर रोजे फर्ज किए गए जैसे कि पिछलों पर फर्ज हुए कि तुम्हें परहेजगारी मिले”। मुसलमान सिर्फ अल्लाह की रज़ा के लिए साल मे एक महीना अपने खाने-पीने, सोने-जागने के समय में तब्दीली करता है। ईमान की वजह से और सवाब के लिए रमजान की रातों का कयाम (जाग कर इबादत) करेगा उसके अगले-पिछले गुनाह बख्श दिए जाते हैं। रमज़ान की सुबह-शाम अल्लाह व रसूल के जिक्र में गुजारें। दूसरों की मदद करें। नेक बनें और दूसरों को नेक बनने की दावत दें।

Related posts

उ०प०प्राथमिक शिक्षक संघ महराजगंज द्वारा उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों की माँगों / समस्याओं के निराकरण हेतु दिया ज्ञापन

Abhishek Tripathi

29 मई को गोरखपुर, उ. प्र. में आयोजित इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन का अंतर्राष्ट्रीय पत्रकार सम्मान, संगोष्ठी व महाधिवेशन – नरेंद्र कुमार सिंह

Abhishek Tripathi

बागापार से केवलापुर के रोड की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री से मिलते बीजेपी के कार्यकर्ता

Abhishek Tripathi

Leave a Comment