Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
उत्तर प्रदेश

एनीमा लगवाने से रोज़ा टूट जाता है – उलमा किराम

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश। 

 

तंजीम उलमा-ए-अहले सुन्नत द्वारा जारी रमज़ान हेल्पलाइन नंबरों पर सवाल-जवाब का सिलसिला जारी रहा। लोगों ने नमाज़, रोज़ा, जकात, फित्रा आदि के बारे में सवाल किए। उलमा किराम ने क़ुरआन व हदीस की रोशनी में जवाब दिया।

1. सवाल : नमाज़े इशा से पहले तरावीह पढ़ना कैसा? (नवाज, जाफरा बाजार)

जवाब : इशा की फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ने के बाद ही तरावीह का वक्त होता है बगैर फर्ज़-ए-इशा पढ़े तरावीह पढ़ना दुरुस्त नहीं अगर किसी शख़्स की नमाज़े इशा छूट गई हो तो पहले इशा की फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ ले फिर तरावीह में शरीक हो और आखिर में तरावीह की जो रकातें छूटी हों उन्हें खुद से पढ़ कर बीस रकअतें पूरा कर ले। (कारी मो. अनस)

2. सवाल : क्या एनीमा लगवाने से रोजा टूट जाता है? (कैफ, तुर्कमानपुर)

जवाब : हां। एनीमा लगवाने से रोज़ा टूट जाता है। (मुफ्ती मो. अजहर)

3. सवाल : औरतों का रोज़े की हालत में लिपस्टिक लगाना कैसा? (यासमीन, बसंतपुर)

जवाब : जायज है बशर्ते कि उसके जर्रात मुंह में न जाएं। इसी तरह चेहरे या होंठों पर कोई लोशन या क्रीम से भी रोज़े पर कोई असर नहीं पड़ता। ताहम बचना बेहतर है। (मुफ्ती मेराज)

4. सवाल : क्या रोज़े की हालत में आंखों में लेंस लगवा सकते हैं? (मुबस्सिर, रेती)

जवाब : हां लगवा सकते हैं इससे रोज़े पर कोई असर नहीं पड़ेगा। (मौलाना जहांगीर)

Related posts

सरकार राजहठ छोड़ कर बिजली कर्मियों की मांगों पर गंभीरता दिखाए।

Abhishek Tripathi

अपराधियों पर सख्त कार्रवाई करते रहें – जिससे अपराध मुक्त हो सिद्धार्थ नगर : एस०पी० अमित कुमार आनंद।

Abhishek Tripathi

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन रांची इकाई की नई टीम का हुआ गठन।

Abhishek Tripathi

Leave a Comment