Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
महाराजगंज

पूरे मोहल्ले से कोई भी एतिकाफ़ में नहीं बैठा तो सब गुनाहगार – उलमा किराम

 

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश।

 

तंजीम उलमा-ए-अहले सुन्नत द्वारा जारी रमज़ान हेल्पलाइन नंबरों पर सवाल-जवाब का सिलसिला जारी रहा। लोगों ने नमाज़, रोज़ा, जकात, फित्रा आदि के बारे में सवाल किए। उलमा किराम ने क़ुरआन व हदीस की रोशनी में जवाब दिया।

1. सवाल : अगर पूरे मोहल्ले से कोई भी एतिकाफ़ में नहीं बैठा तो क्या सब गुनाहगार होंगे? (अकमल हुसैन, तकिया कवलदह)

जवाब : हां। एतिकाफ़ करना सुन्नत अलल किफाया है अगर पूरे मोहल्ले से कोई भी एतिकाफ़ में नहीं बैठा तो सब गुनाहगार होंगे। (मुफ्ती अख्तर हुसैन)

2. सवाल : क्या दौराने एतिकाफ़ मोबाइल का इस्तेमाल किया जा सकता है? (सैफ, तुर्कमानपुर)

जवाब : हां, ज़रूरत की बिना पर इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन मस्जिद के आदाब और दूसरे नमाजियों के हुकूक का ख्याल रखते हुए। (कारी मो. अनस)

3. सवाल : बगैर वुजू के अज़ान देना कैसा? (आसिफ महमूद, जमुनहिया बाग)

जवाब : ऐसा करना मकरूह है लेकिन अज़ान अदा हो जाएगी। (मुफ्ती मेराज)

4. सवाल : क्या सगी खाला (मां की बहन) को जकात दे सकते हैं? (अब्दुल, अलीनगर)

जवाब : अगर खाला जकात की मुस्तहिक है तो उन्हें जकात दे सकते हैं। (मुफ्ती मो. अजहर)

Related posts

शांति व्यवस्था में व्यवधान उत्पन्न करने वाले हुडदंगीयो पर होगी कार्रवाई: एसडीएम

Abhishek Tripathi

मैरी शिवान में अज्ञात अर्धजला शव मिलने से मचा हड़कंप हत्या की आशंका

Abhishek Tripathi

प्राथमिक विद्यालय ठूठीबारी प्रथम के बच्चों ने निकाला मतदाता जागरूकता रैली

Abhishek Tripathi

Leave a Comment