Unity Indias

Search
Close this search box.
महाराजगंज

रोजा रखने से गुनाह माफ होते हैं – कारी शराफत 

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश।

 

बेलाल मस्जिद इमामबाड़ा अलहदादपुर के इमाम कारी शराफत हुसैन कादरी ने बताया कि रमज़ान के महीना हममें इतना तक़वा (परहेजगारी) पैदा कर सकता है कि सिर्फ रमज़ान ही में नहीं बल्कि उसके बाद भी ग्यारह महीनों की ज़िन्दगी भी सही राह पर चल सके। पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम का मशहूर फरमान है कि जिसने ईमान के साथ सवाब की नियत से यानी खालिस अल्लाह की खुशनूदी हासिल करने के लिए रोज़ा रखा उसके पिछले तमाम गुनाह माफ फरमा दिए जाते हैं।

Related posts

शहीद भगत सिंह को”बहादुर देशभक्त” की छवि को थोपकर उन्हें राष्ट्रवाद के हिंदुत्व ब्रांड से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

Abhishek Tripathi

सरसों के डंठल में मिले शव का तीसरे दिन भी नही हुई पहचान

Abhishek Tripathi

महिला द्वारा संगठित गिरोह चलाकर फर्जी मामलों मे फंसाने की धमकी एवं करती थी धन वसूली।

Abhishek Tripathi

Leave a Comment