Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
महाराजगंज

लेखपाल से पत्रकार को जान माल का खतरा

◆लेखपाल कुलदीप शर्मा द्वारा त्योहार के दिन पत्रकार के खिलाफ ग्रामीणों को भड़काने का मामला◆

महाराजगंज। जनपद महराजगंज के तहसील निचलौल व थाना कोतवाली ठूठीबारी क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सभा बोदना निवासी व महराजगंज से प्रकाशित सम्मानित समाचार पत्र निशा प्रहरी के स्वामी व संपादक सुरेंद्र रावत ने आइजीआरएस पोर्टल के माध्यम से शिकायत कर आरोप लगाया है कि निचलौल तहसील में तैनात लेखपाल कुलदीप शर्मा उनकी कभी भी हत्या करवा सकते हैं।
जानकारी के अनुसार निशा प्रहरी हिंदी साप्ताहिक समाचार पत्र के स्वामी/संपादक सुरेंद्र रावत ने आईजीआरएस पोर्टल के माध्यम से गड़ौरा में स्थित पोखरे की जानकारी मांगी थी। जिस पर लेखपाल कुलदीप शर्मा ने गलत रिपोर्ट तैयार कर आइजीआरएस पोर्टल पर लगा दिया गया। शिकायतकर्ता ने पुनः जांच की मांग की जिस पर लेखपाल कुलदीप शर्मा मोहर्रम के दिन गड़ौरा में पहुंचकर कुछ लोगों को बरगलाने लगे और तरह तरह की बातों को करके ग्रामीणों को भड़का रहे थे ताकि गड़ौरा में कोई बड़ा दंगा हो जाय। हैरानी की बात तो यह है कि आखिर लेखपाल त्योहार के ही दिन क्यों ग्रामीणों को भड़का रहे हैं। इससे पूर्व में बकरीद के दिन भी लेखपाल कुलदीप शर्मा गड़ौरा के ग्रामीणों को भड़काया था अब सवाल यह उठता है कि आखिर लेखपाल की मंशा क्या है। जानकारी देने के बजाय ग्रामीणों को भड़का क्यों रहे है। शिकायतकर्ता सुरेंद्र रावत ने बताया कि मैंने आईजीआरएस के माध्यम से गड़ौरा में स्थित 11 पोखरों की जानकारी मांगा था जिसमें कुछ लोगों को बचाने के लिए लेखपाल द्वारा दूसरे गरीब लोगों को भड़काया जा रहा है। जबकि शिकायतकर्ता ने किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं की है बल्कि सिर्फ ग्राम सभा में स्थित पोखरे की जानकारी मांगी है। लेखपाल द्वारा बार-बार फर्जी रिपोर्ट दे देना और ग्रामीणों को भड़काना इससे साफ जाहिर होता है कि लेखपाल को किसी दंगे का इंतजार है। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि लेखपाल अपने को फंसते देख ग्रामीणों को बरगला रहे हैं ताकि ग्रामीण शिकायतकर्ता के साथ मारपीट कर लें और मामला राजस्व विभाग का न होकर पुलिस विभाग का हो जाए और ध्यान भटका कर आसानी से अपने को बचा सके ।
सूत्रों की माने तो लेखपाल ग्रामीणों से रकम वसूलने के लिए ही इस तरह का कृत्य कर रहे है।

आखिर क्या वजह है कि सिर्फ त्योहारों के दिन ही लेखपाल ग्राम सभा में जाकर ग्रामीणों को परेशान कर रहे है ।
बताया जाता है कि लेखपाल इसी तरह से दो-तीन और गांव में विवाद को बढ़ाने में लगे हुए हैं श्री रावत ने आरोप लगाया है कि उन्हें लेखपाल से अब डर लगने लगा है कि कहीं हमारी हत्या ना करवा दें जिसकी सूचना पोर्टल के माध्यम से पुलिस अधीक्षक महाराजगंज को अवगत करा दिया है। और ट्विटर के माध्यम से भी उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया है।

Related posts

बैंको के ऋण व मोटर दुर्घटना से संबंधित विशेष लोक अदालत का किया जाएगा आयोजन।

Abhishek Tripathi

डरा रहा भूकंप,72 घंटे में दूसरी बार आया भूकंप, कांप गए दिल्ली-नोएडा के लोग

Abhishek Tripathi

चिउरहा नहर के पास मिला नाबालिग बच्चे का शव

Abhishek Tripathi

Leave a Comment