Unity Indias

Search
Close this search box.
राजस्थान

सूखे और गीले कचरे का निस्तारण वैज्ञानिक पद्धति से होगा

अजमेर शहर को नैकॉफ इंडिया देगा स्वच्छ पर्यावरण

जयपुर। अजमेर नगर निगम द्वारा शहर के सूखे और गीले कचरे का निस्तारण वैज्ञानिक पद्धति से किया जाएगा। इसमें गीले कचरे द्वारा ऑर्गेनिक कंपोस्ट बनाया जाएगा तथा बाकी बचे अपशिष्ट पॉलिथीन कपड़ा रेगजीन डिब्बे आदि को कॉम्पेक्शन कर फ्यूल के तौर पर सीमेंट फैक्ट्री में इस्तेमाल के लिए भेजा जाएगा। वर्तमान में पूर्व में एकत्रित समस्त कचरे का निस्तारण भी नैकोफ इंडिया लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। अब तक करीब दो लाख धन मीटर कचरे का निस्तारण कर दिया गया है। जिससे माखुपुरा ट्रेचिंग ग्राउंड के आसपास आने वाली दुर्गंध आदि समाप्त हो चुकी है। यह कार्य होने से अजमेर नगर निगम के स्वच्छता सर्वेक्षण में सुधार होगा तथा अजमेर शहर को रोज निकलते वाले कचरे से मुक्ति मिलेगी। यह राजस्थान का सबसे बड़ा वेस्ट टू कंपोस्ट प्लांट है।
कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर ने बताया कि ठोस कचरा परिष्करण संयंत्र एसडब्ल्यूएम 2016 गाइडलाइन के अनुसार कंपनी कार्य कर रही है। संयंत्र का सिविल स्ट्रक्चर कार्य शीघ्र आरंभ किया जाएगा। जिससे आगामी दिनों में अजमेर शहर को स्वच्छ वातावरण मिलेगा तथा शहर वासी खुली आबोहवा ले सकेंगे।
माखुपुरा टीचिंग ग्राउंड में सॉलि़ड वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट की स्थापना के कार्यों में तेजी आना शुरू हो गई है। कार्यकारी संस्था नैकॉफ इंडिया लिमिटेड द्वारा सभी प्रकार की एनओसी ले ली गई है तथा एनवायरमेंट क्लीयरेंस भी कंपनी को प्राप्त हो चुका है। अब कंपनी द्वारा कंसर्ट टू इस्टैबलिश्ड (सीटीई) के लिए पर्यावरण विभाग में आवेदन कर तय शुल्क जमा करा दिया गया है। जिससे शीघ्र सीटीई प्रमाण पत्र प्राप्त हो जाएगा। कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर ने बताया कि स्वच्छता के मामलों में कंपनी द्वारा सभी नियमों का पूरी तरह पालन किया जा रहा है और भविष्य में भी इनका पूरा ध्यान रखा जाएगा।

Related posts

गजसिंहपुर में ध्वज यात्रा का हुआ आयोजन,हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है श्री राम जन्मोत्सव पर्व,श्री राम जयकारों से गूंजा शहर,

Abhishek Tripathi

जानिए Damandeep Singh ने कैसे डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा होने के बावजूद सफलता हासिल की

Abhishek Tripathi

भाजपा की चुनाव प्रबंधन समिति की कार्यशाला भाजपा कार्यालय टोंक पर आयोजित

Abhishek Tripathi

Leave a Comment