Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
Uncategorized

उ०प०प्राथमिक शिक्षक संघ महराजगंज द्वारा उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों की माँगों / समस्याओं के निराकरण हेतु दिया ज्ञापन

संवाददाता शम्सतबरेज खान महराजगंज की रिपोर्ट

महराजगंज। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जनपद शाखा महराजगंज द्वारा उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक अपनी माँगों जैसे- पुरानी पेंशन की बहाली, राज्य कर्मचारियों की भाँति उपार्जित अवकाश, द्वितीय शनिवार अवकाश, प्रतिकर अवकाश, अध्ययन अवकाश, कैशलेस चिकित्सा सुविधा, प्रत्येक प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति/तैनाती, उ०प्र०माध्यमिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों की भाँति चयन वेतनमान में 12 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके सभी शिक्षकों को प्रोन्नत वेतनमान आदि 18 सूत्रीय माँग पत्र के अनुसार अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु अनुरोध कर चुके हैं, परन्तु अभी तक उ0प्र0 सरकार की ओर से माँगों के निराकरण के सम्बन्ध में कोई कार्यवाही न किये जाने से प्रदेश का शिक्षक समुदाय अत्यन्त क्षुब्ध एवं आहत है। एक ओर शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण नही किया जा रहा है, साथ ही साथ कतिपय विभागीय अधिकारियों द्वारा बेसिक शिक्षकों एवं शिक्षा से सम्बन्धित तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर समाचार पत्रों में प्रकाशित कराया जा रहा है, जिससे बेसिक शिक्षा एवं शिक्षकों की छवि पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है, कारणवश शिक्षकों में भारी आक्रोश व्याप्त है। आज जनपद के समस्त शिक्षकों ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर एकत्र होकर अपनी मांगों के समर्थन में शान्तिपूर्ण ढंग से धरना दिया एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के माध्यम से अपने माँग पत्र को आपकी सेवा में सादर प्रेषित कर रहे हैं। यदि शीघ्र ही हमारी माँगों का निराकरण नहीं किया जाता है तो शिक्षा निदेशालय निशातगंज, लखनऊ पर धरना दिया जायेगा।
अतः आपसे विनम्र अनुरोध है कि संलग्न माँग पत्र में उल्लिखित माँगों के निराकरण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश प्रदान करना जनहित में आवश्यक है।

1. उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में 01 अप्रैल, 2005 व उसके पश्चात नियुक्त शिक्षकों को पुरानी पेंशन व्यवस्था (ओ०पी०एस०) से आच्छादित किया जाये।

2.उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को राज्य
कर्मचारियों की भाँति उपार्जित अवकाश, द्वितीय शनिवार अवकाश, प्रतिकर अवकाश
एवं अध्ययन अवकाश (स्टडी लीव) अनुमन्य किया जाये।

3:- उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को भी राज्य कर्मचारियों की भाँति कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान की जाये।
4:- उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन प्रत्येक प्राथमिक विद्यालय एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक की पदोन्नति एवं तैनाती की जाये।

5:-उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को भी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् शिक्षकों की भांति चयन वेतनमान के अंतर्गत 12 वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले सभी शिक्षकों को प्रोन्नत वेतनमान अनुमन्य किया जाय।

6. उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत सभी शिक्षकों को 10 लाख रूपये का सामूहिक बीमा अनुमन्य कराया जाये तथा वर्ष 2014 व उसके पश्चात नियुक्त शिक्षकों को भी सामूहिक बीमा का लाभ अनुमन्य किया जाये।

7. बेसिक शिक्षकों के अन्तर्जनपदीय एवं अन्तः जनपदीय पारस्परिक स्थानान्तरण के लिए न्यूनतम सेवा अवधि की शर्त समाप्त की जाये एवं सत्र भर में कभी भी पारस्परिक स्थानान्तरण का आवेदन प्राप्त होने पर स्थानान्तरण किये जाये।

8. उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत ऐसे शिक्षकों को
जिनकी पदोन्नति दिनांक 01-12-2008 के पश्चात ग्रेड वेतन 4600 में हुई है उनको पदोन्नति की तिथि से न्यूनतम मूल वेतन रुपये 17140/- अनुमन्य किया जाये।

9.उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में 01 अप्रैल, 2005 से पूर्व चयनित ऐसे शिक्षक जिनकी नियुक्ति अथवा कार्यभार ग्रहण तिथि 01 अप्रैल, 2005 के पश्चात है, को भारत सरकार की भाँति पुरानी पेंशन योजना से लाभान्वित किया
जाये।

10. उ0प्र0 बेसिक शिक्षा अधिनियम के अनुसार बेसिक शिक्षकों की पदोन्नति एवं अन्तः जनपदीय स्थानान्तरण की सम्पूर्ण प्रक्रिया नियुक्ति प्राधिकारी / जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के माध्यम से करवायी जाये।
11. उत्तर प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा संचालित सभी इण्टरमीडिएट कालेज
में ग्रीष्मकालीन अवधि में विद्यालय संचालन की अवधि प्रतिदिन 05 घंटे है तथा उच्च शिक्षा विभाग द्वारा संचालित सभी महाविद्यालय में एक सप्ताह (छः कार्यदिवस) में 24 पीरियड (एक पीरियड = 40 मिनट) अर्थात प्रतिदिन 2 घंटे 40 मिनट निर्धारित है जबकि उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालय जिसमें 6 से 14 वर्ष की आयु के बालक बालिका अध्ययनरत हैं, में भीषण गर्मी में विधालय संचालन की अवधि प्रातः 8 बजे से अपराह्न 02 बजे तक अर्थात प्रतिदिन निर्धारित की गई है। उत्तर प्रदेश में सी०बी०एस० ई०या किसी अन्य बोर्ड के साथ की कक्षा 01 से 08 तक के विधालय के संचालन का समय प्रतिदिन 5 घंटे से अधिक निर्धारित नहीं किया गया है अतः उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषदीय विधायालयों का ग्रीष्मकालीन में संचालन का समय उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की भांति 01 अप्रैल से 30 सितंबर तक प्रातः 07 :30 बजे से 12:30 बजे तक किया जाये।

12.बेसिक शिक्षकों को संसाधन एवं प्रशिक्षण दिये बिना ऑनलाईन कार्य करने को बाध्य किया जा रहा है शिक्षक वेतन आहरण पर रोक से बचने के लिए देर रात तक साइबर कैफे पर बैठकर ऑनलाईन कार्य कराने को बाध्य हैं। जिससे शिक्षकों का शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। अतः इस प्रकार के कार्य गैर शिक्षणेत्तर कर्मचारियों द्वारा करवाया जाये।

13.उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद के अधिकांश विद्यालय दूर-दराज एवं दुर्गम मार्गों पर स्थित हैं शिक्षकों को अपने घर से विद्यालय की दूरी तय करने में काफी समय लगता है परन्तु फिर भी शिक्षकों को विद्यालय समय के पश्चात संकुल अथवा ब्लॉक संसाधन केन्द्र पर बैठक में उपस्थित रहने हेतु बाध्य किया जा रहा है जिससे शिक्षकों, विशेषकर महिला शिक्षकों को परेशानी उठानी पड़ रही है। अतः विद्यालय समय के पश्चात होने वाली बैठकों पर रोक लगायी जाये।

14. प्रायः प्रत्येक वर्ष के अन्त में फरवरी व मार्च के माह में उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परीक्षाओं में भी बेसिक शिक्षा परिषदीय शिक्षकों की ड्यूटी लगायी जाती है। इसी अवधि में विभाग द्वारा भी ब्लॉक संसाधन केन्द्र अथवा जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान पर शिक्षकों के प्रशिक्षण कराये जाते हैं। बेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों की वार्षिक परीक्षा की तैयारी भी इसी अवधि में कायानी होती है परन्तु बेसिक शिक्षक को प्रशिक्षण एवं माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं में ड्यूटी लगा दिये जाने से बेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों के छात्रों का हित प्रभावित होता है। अतः प्रत्येक वर्ष गाह फरवरी एवं मार्च में शिक्षकों को किसी भी अन्य कार्य में न लगाया जाये।

15. उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषदीय प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापकों का प्रोन्नत वेतनमान ग्रेड वेतन 4800 रुपये/वेतन मैट्रिक्स लेवल 8 है, जबकि पदोन्नति के समय चयन वेतनमान के समकक्ष ग्रेड वेतन 4600 रूपये / वेतन मैट्रिक्स लेवल 7 दिया जाता है। इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक/ उच्च प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक का प्रोन्नत वेतनमान ग्रेड वेतन 5400 रुपये / वेतन मैट्रिक्स लेवल 9 है, जबकि पदोन्नति के समय चयन वेतनमान के समकक्ष ग्रेड वेतन 4800 रूपये, चेतन मैट्रिक्स लेवल 8 दिया जाता है जोकि शिक्षकों के साथ पूर्णतयः अन्याय है। अतः प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक को प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक/ उच्च प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक के पद पर पदोन्नति के समय प्रोन्नत वेतनमान के समकक्ष गेह वेतन 4800 रूपये / वेतन मैट्रिक लेवल 8,उच्च प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक /प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक को उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति के समय प्रोन्नत वेतनमान के समकक्ष ग्रेड वेतन 5400 रुपये /वेतन मैट्रिक्स लेवल 9 अनुमन्य किया जाये।
16. उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत दिव्यांग शिक्षकों को शासनादेश संख्या- 6-2019/बी-2-531/ दस-2019 के अनुसार वाहन भत्ता की नई बढ़ी दर से भुगतान नही किया जा रहा है। इसके भुगतान के लिए आवश्यक आदेश जारी किया जाये।

17. मृतक बेसिक शिक्षकों के ऐसे आश्रित जो बी०एड० एवं टी०ई०टी० की योग्यता रखते हैं उनको शिक्षक के पद पर नियुक्ति हेतु स्पष्ट निर्देश जारी किये जायें। 18. उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन प्रत्येक विद्यालय में एक चतुर्थ श्रेणी/सफाई कर्मचारी/चौकीदार की नियुक्ति की जाये।
18.उत्तर प्रदेश बेसिक के शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन प्रत्येक विधालय में एक चतुर्थ श्रेणी /सफाई कर्मचारी /चौकीदार की नियुक्ति की जाये।

Related posts

अंधेरी रेलवे स्टेशन के पास बेस्ट के CNG बस मे लगी आग, कोई यात्री घायल नहीं।

Abhishek Tripathi

बिजली का करंट लगने से दुधारू भैंस की मौत

Abhishek Tripathi

मुक़द्दस रमज़ान में दुनियाभर में बरेलवी हाफिज़ो की गूँजेगी किरत।

Abhishek Tripathi

Leave a Comment