Unity Indias

Search
Close this search box.
Uncategorized

फर्जी तरीके से जन्म प्रमाण पत्र जारी करने वाले सात अभियुक्तों को पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार

संवाददाता अरविन्द कुमार पटेल की रिपोर्ट

 

महाराजगंज।उत्तर प्रदेश के जनपद महराजगंज उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन सुविधा की शुरुआत की गई थी जिससे लोग आसानी से अपना या अपने परिवार का जन्म प्रमाण पत्र बनवा सके वहीं पर जनपद महराजगंज के गांवो में सहज जन सेवा केंद्रों पर भी जन्म प्रमाण पत्र बनाए जा रहे थे । जिला पंचायतीराज विभाग को यह जानकारी हुई कि कुछ सहज जन सेवा केंद्रों द्वारा फर्जी जन्म प्रमाण पत्र निर्गत किया जा रहा हैं जिसके बाद संदिग्ध सहज जन सेवा केंद्रों के संचालकों से साइबर सेल ,एसओजी पुलिस टीम और प्रशासनिक अधिकारियों ने पूछताछ की तो 7 जन सेवा केंद्रों के संचालकों के मोबाइल एवं लैपटॉप की जब गहन जांच की गई तो पाया गया इन जन सहज सेवा केंद्रों द्वारा वास्तविक पोर्टल के स्थान पर फर्जी पोर्टल बनाकर फर्जी आईडी बनाकर कूटरचित तरीके से जन्म प्रमाण पत्र तैयार किया जा रहे हैं तथा इन प्रमाण पत्रों के बदले लोगों से 100 रुपये यूपीआई के माध्यम से प्राप्त किया जा रहा है । इसके बाद प्रभारी एडीओ पंचायत सदर के तहरीर पर सदर कोतवाली में इन सातो सहज जन सेवा केंद्र संचालक के खिलाफ आईटी एक्ट समेत तमाम गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है । अपर पुलिस अधीक्षक आतिश सिंह ने बताया कि चार फर्जी वेबसाइट चिन्हित किए गए है जिससे ये फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाते थे । वही उन्होंने बताया कि विवेचना में इस चीज की भी जांच की जाएगी कि यह किस तरह से इस वेबसाइट की तरह कोई अन्य वेबसाइट तो नही चला रहे हैं साथ ही साथ जिनका जन्म प्रमाण पत्र उनसे भी पूछताछ किया जाएगा कि किस लाभ के लिए उन्होंने फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाया है ।सुत्रों के मुताबिक महराजगंज पुलिस का कहना है कि उक्त मामले में और भी जांच की जा रही है। और भी कई खुलासे हो सकते हैं

Related posts

अतिक्रमण के संदर्भ में प्रधानमंत्री समेत मुख्यमंत्री तक गुहार

Abhishek Tripathi

अब पंचायतों का काम नहीं देखेंगे आरईडी इंजीनियर*

Abhishek Tripathi

विकास कार्य में सुंदरीकरण का सराहनीय कदम

Abhishek Tripathi

Leave a Comment