Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
महाराजगंज

नि:शुल्क कैंसर की प्राथमिक जांच एवं प्रशिक्षण शिविर का किया गया आयोजन।

भारत के सुदूर ग्रामीण इलाको में आम लोगों को अपने को कैंसर के चिकित्सक को दिखाना बहुत मुश्किल होता है। इन्हीं मुश्किलों को दूर करने के लिए

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी- महराजगंज के सहयोग से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र , रुदलापुर, महराजगंज के प्रांगण में आज दिनांक 9 अप्रैल 2024 दिन मंगलवार को प्रातः 10:00 बजे से शाम 3:00 बजे तक हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल एवं शोध संस्थान, गीता वाटिका, गोरखपुर द्वारा नि:शुल्क कैंसर की प्राथमिक जांच एवं प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। रमजान महीना और नवरात्रि पर्व होने के बावजूद इस निशुल्क कैंसर शिविर का लाभ उठाने के लिए 93 लोग आए और अपनी परेशानी बताकर कैंसर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. सी. पी. अवस्थी से कैंसर संबंधित लक्षण की परामर्श एवं जांच कराई तथा इन सभी को निशुल्क दवा दी गई।

इस कैंसर शिविर में हिस्सा लेने आए लोगों एवं उनके परिजनों को समाज के दुर्दांत रोग कैंसर के विषय में मरीजों एवं उनके परिजनों को प्रशिक्षण तथा इलाज के बारे में जानकारी दी गई। कैंसर लक्षण का प्रशिक्षण तथा इलाज के बारे में जानकारी दी गई।

कैंसर जागरूकता अभियान के तहत इस स्वास्थ्य केंद्र में आए लोगों को समझाया गया कि जब कैंसर की देखभाल में देरी या पहुंच नहीं होती है तो बचने की संभावना कम होती है, उपचार से जुड़ी अधिक समस्याएं और देखभाल की उच्च लागत होती है। हमें कैंसर के निवारक उपायों को जानना चाहिए। यदि कोई समस्या है, तो हमें कैंसर के शीघ्र निदान और अच्छे उपचार के बारे में पता होना चाहिए। महिलाए स्तन कैंसर के लिए खुद की जांच करती है। शिविर का उद्देश्य आम लोगों खासकर महिलाओं को स्तन कैंसर के शुरुआती लक्षणों के बारे में बताया गया तथा घर पर स्वयं का पता लगाने की प्रक्रिया के बारे में भी बताया गया ताकि शुरुआती पहचान और समय पर उपचार किया जा सके। सभी लोगों को कैंसर से संबंधित पत्रक, विवरण पुस्तिका आदि वितरित किया गया ताकि वे और लोगों को कैंसर के लक्षण, इलाज बचाव आदि के बारे में उचित एवं सही सलाह देकर जागरुक कर सकें।

शिविर में डॉ. राकेश श्रीवास्तव, अजय श्रीवास्तव, सत्यवती तिवारी, अशफाक अहमद खान, विजय कुमार, देवेंद्र यादव, बिंदु, प्रिया कनौजिया, अंकित पांडेय , नारद मुनि आदि का कार्य उल्लेखनीय रहा।

 

Related posts

इल्मी मुक़ाम की मुमताज़ शख्सियत थे रेहाने मिल्लत- मुफ़्ती अय्यूब खान

Abhishek Tripathi

पुरस्कार और मेडल जीवन में आगे बढ़ने को प्रेरित करता है

Abhishek Tripathi

शांति कमेटी की बैठक सम्पन्न

Abhishek Tripathi

Leave a Comment