Unity Indias

Search
Close this search box.
[the_ad id='2538']
महाराजगंज

पोद्दार कैंसर अस्पताल एवं शोध संस्थान के द्वारा लोगो के कैंसर जांच और बचने की दी गयी जानकारी।

 

लोगों को कैंसर के बारे में जानकारी देने के उद्देश्य से हनुमान प्रसाद पोद्दार कैंसर अस्पताल एवं शोध संस्थान, गीता वाटिका, गोरखपुर, ने **मुख्य चिकित्सा अधिकारी- महराजगंज* के सहयोग से *संयुक्त जिला चिकित्सालय, महराजगंज के प्रांगण में आज दिनांक 14 जून 2024 दिन शुक्रवार को प्रातः 10:00 बजे से शाम 3:00 बजे* तक* एक नि:शुल्क कैंसर की प्राथमिक जांच एवं प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जिसमें 212 मरीजों ने आकर कैंसर अस्पताल के चिकित्सक डॉ. सी. पी. अवस्थी से कैंसर संबंधित परामर्श लिया, लक्षण की जांच कराई तथा उचित निशुल्क दवा पाकर शिविर का भरपूर लाभ उठाया। शिविर का हिस्सा बनने वाले लोगों में बड़ी संख्या में मध्यम एवं वरिष्ठ आयु वर्ग के व्यक्ति शामिल थे। सबसे ज्यादा दिखाने वाले पुरुषो में माउथ, लंग, पेट, प्रोस्टेट, पैर में गांठ आदि में परेशानी वाले लोग रहे जबकि महिलाओं में ब्रेस्ट की गांठ, गर्भाशय, मुंह, अंडाशय, पित्त आदि की समस्या वाले लोग आए।

इस स्वास्थ्य केंद्र से संबंधित लोगों तथा यहां दिखाने आए सभी लोगों को बुलाकर कैंसर जागरूकता अभियान के तहत उनको बताया गया कि कैंसर मूल रूप से एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर की कोशिकाओं का असामान्य विकास होता है जो शरीर के विभिन्न भागों में फैल जाता है। यह शरीर के एक हिस्से में उत्पन्न होता है और इसमें विभिन्न अंगों में घुसने की क्षमता होती है। अगर इस बीमारी का प्रारंभिक अवस्था में पता लग जाता है तो यह रोग ठीक हो सकता है। जैसे जैसे समस्या की गंभीरता बढ़ती जाती है इससे निपटना कठिन होता जाता है। अगर कैंसर की स्थिति दर्दनाक है तो इसके उपचार करने के लिए इस्तेमाल तरीके भी समान रूप से पीड़ादायक हैं। इसलिए सतर्क रहना और समस्या को पहली बारी में उत्पन्न होने से पहले दूर करना महत्वपूर्ण है। इसके लक्षणों को पहचान कर इसकी अनदेखी करना भी बहुत बड़ी भूल है।

लगातार वजन घटना, किसी को विशेष कारण से थका हुआ महसूस करना, खांसी को कुछ हफ्तों से अधिक समय हो तो फेफड़ों का कैंसर, मल / मूत्र में खून या लंबे समय तक कब्ज, दस्त, दर्द लंबे समय तक रहने वाला दर्द जिसका उपचार के दौरान कोई लक्षण नहीं दिखता, स्तन के समीप गठन या स्तन का मोटा होना आदि कैंसर होने के लक्षण है। ऐसा होने पर समय गवाएं बिना कैंसर के चिकित्सक को तुरंत दिखाए ताकि वो ठीक हो सके। देरी करने से कैंसर का क्षेत्रफल बढ़ता जाता है।

सभी लोगो को कैंसर से संबंधित पत्रक, विवरण पुस्तिका, फ्लिपबुक, पोस्टर, लीफलेट/चित्रों के साथ पैम्फलेट आदि वितरित किया गया ताकि वे अपने क्षेत्र में कार्यक्रम आयोजित कर और लोगो को कैंसर के बारे मे जागरुक कर सकें।

शिविर में चिकित्सा अधीक्षक डॉ. ए. पी. भार्गव, डॉ. राकेश श्रीवास्तव, डॉ. ए. इस्लाम, अजय श्रीवास्तव, दीपक बर्मा, सुरेश चौधरी, सत्यवती तिवारी, नारद मुनि, सोनी पासवान, सुनील मिश्रा, अंकित पाण्डेय, स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टर एवं कर्मचारियों आदि का कार्य उल्लेखनीय रहा।

Related posts

बरगदवा थाने में पीस कमेटी की बैठक संपन्न

Abhishek Tripathi

विश्व दिब्यांग दिवस पर खेल कुद प्रतियोगिता कार्यक्रम का किया गया आयोजन

Abhishek Tripathi

नौवें दिन भी नहीं चला पता अधजला महिला के शव का पता ,अपराधियों का कोई सुराग नहीं

Abhishek Tripathi

Leave a Comment